Posts

Showing posts from November, 2020

BJP में दौड़ी शोक की लहर, पूर्व मंत्री एंव वरिष्ठ विधायक का हुआ निधन!! पीएम मोदी ने ...

Image
राजस्थान में बेलगाम हो रहा कोरोना संक्रमण (COVID-19) प्रदेश के एक और विधायक को लील गया. पूर्व मंत्री एवं बीजेपी की वरिष्ठ विधायक किरण माहेश्वरी का रविवार रात को कोरोना के कारण निधन हो गया. राजस्थान में बेलगाम हो रहे कोरोना संक्रमण प्रदेश के एक और विधायक को लील गया. पूर्व मंत्री एवं बीजेपी की वरिष्ठ विधायक किरण माहेश्वरी का रविवार रात को कोरोना के कारण निधन हो गया. माहेश्वरी ने सोमवार तड़के हरियाणा के गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) में अंतिम सांस ली. माहेश्वरी प्रदेश की दूसरी विधायक हैं जिनका निधन कोरोना के कारण हुआ है. इससे पहले भीलवाड़ा के सहाड़ा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक कैलाश त्रिवेदी का कोरोना के कारण निधन हो गया था. माहेश्वरी के निधन पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला समेत बीजेपी-कांग्रेस के कई नेताओं ने गहरा शोक व्यक्त किया है. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने विधायक किरण माहेश्वरी के निधन पर शोक जताया है. बिरला ने अपने ट्वीट में कहा कि ” बहन किरण जी का निधन बेहद दुखद है. उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज की सेवा और हितों को संरक्षित करने के लिए समर्पित किया.

बेटे को परीक्षा दिलाने 105 किलोमीटर साइकिल से लाया पिता,साथ मे 3 दिन का राशन…

Image
मध्यप्रदेश के धार जिले में शोभाराम अपने बेटे को दसवीं की परीक्षा दिलाने के लिए मनावर से धार पहुंचा, कोरोना वायरस महामारी के चलते बसें बंद मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के धार (Dhar) जिले में 105 किलोमीटर साइकल चलाकर मजदूर पिता शोभाराम अपने बच्चे को परीक्षा दिलाने धार स्थित परीक्षा केंद्र पहुंचे. प्रदेश में ‘रुक जाना नहीं अभियान के तहत 10वीं और 12वीं परीक्षा में असफल हुए छात्रों को एक और मौका दिया जा रहा है. इसी सिलसिले में मंगलवार को गणित का पे”पर था. जिले की मनावर तहसील के शोभाराम के बेटे आशीष को 10वीं की तीन विषयों की परीक्षा देना है. परीक्षा केंद्र उसके घर से 105 किलोमीटर दूर धार में है. को”रो”ना महा”मारी के चलते बसें बंद होने की वजह से शोभाराम अपने बेटे को लेकर सोमवार रात 12 बजे साइकिल से ही निकल पड़े. धार में ठहरने की व्यव”स्था न होने से उन्होंने तीन दिन का खाने का सामान भी अपने साथ रख लिया. वे रात में 4 बजे मांडू के भया”नक घाट से निकलकर मंगलवार सुबह पे”पर शुरू होने से मात्र 15 मिनट पहले 7:45 बजे परीक्षा केंद्र पहुंचे. अब बुधवार को सामाजिक विज्ञान और गुरुवार को अंग्रेजी का पे

टिकट कटती है महाराष्ट्र से और ट्रेन पकड़ना पड़ती है गुजरात से.. अजीब है ये रेलवे स्टेशन

Image
सोचिए यदि आप ट्रेन की टिकट एक राज्य से खरीदें और ट्रेन पकड़ने के लिए आपको दूसरे राज्य जाना पड़े तो कैसा लगेगा। लेकिन ऐसा ही हर दिन होता है एक अनोखे स्टेशन में जहां ट्रेन का इंजन किसी एक सूबे में होता है और गार्ड का डिब्बा किसी दूसरे राज्य में स्थित होता है। इस अनोखे स्टेशन का नाम है नवापुर। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने स्वयं ट्वीटर पर इसकी जानकारी सांझा की है। रेल मंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि क्या आप जानते हैं कि देश में एक रेलवे स्टेशन ऐसा भी है जो दो प्रदेशों में स्थित है? सूरत-भुसावल लाइन पर नवापुर एक ऐसा स्टेशन है, जहां स्टेशन के बीचो-बीच दो राज्यों की बॉर्डर लगती हैं। इसलिये इस स्टेशन का आधा हिस्सा गुजरात में, तो बाकी आधा महाराष्ट्र में आता है। यह अकेला रेलवे स्टेशन है जोकि गुजरात और महाराष्ट्र दोनों ही प्रदेशों के अंतर्गत आता है। यहां रेलवे स्टेशन के एक छोर पर गुजरात राज्य का बोर्ड लगा है और दूसरी तरफ महाराष्ट्र का बोर्ड लगा है। सबसे अनोखी बात तो यह है कि यहां टिकट काउंटर महाराष्ट्र में पड़ती है, जबकि स्टेशन मास्टर गुजरात की सीमा में बैठते हैं। ट्रेन में चढ़ने के लि

विमान से आते थे, आलीशान होटल में ठहरते थे और ऐसे करते थे ऐसा काम की पुलिस का भी हिल गया दिमाग

Image
राजधानी के कई ATM बूथ में हुईं चोरी की वारदातों का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। गिरफ्तार आरोपित एटीएम से पैसा चोरी कर धौज गांव में जिम चलाते थे। आरोपित शाहरुख खान चोरी के पैसे से ही धूमधाम से अपनी शादी की थी। इसके साथ ही चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों ऐशोआराम की जिंदगी जीते थे। चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों गांव में जाकर जिम चलाने का काम करते थे। जिससे किसी को भनक न लगे और उनको किसी प्रकार की दिक्कत न होने पाए।  तीनों आरोपित पिछले एक साल इस घटना को अंजाम दे रहे थे। आरोपितों ने राजधानी में दो बार आकर रायपुर, दुर्ग, भिलाई, धमतरी और जगदलपुर में चोरी की पांच वाददातें कीं। आरोपित चोरी की वारदातों को अंजाम देने के लिए विमान से आते थे, आलीशान होटल ठहरते थे और घूम-घूमकर एटीएम में चोरी करते थे। इसके बाद विमान से वापस लौट जाते थे। ज्ञात हो कि सितंबर-अक्टूबर में शाहरुख खान, आसिफ खान और वसीम खान ने रायपुर के कोतवाली थाना क्षेत्र के केनरा बैंक एटीएम से पैसे निकाले थे। इसी तरह सेजबहार स्थित केनरा बैंक से लगे एटीएम से 25 सितंबर की सुबह 11.50 बजे आरोपितों ने दस बार में 98 हजार

काला दूल्हा नहीं था पसंद, घर छोड़कर भाग गई लड़की

Image
दूल्हे का काला रंग होने की वजह से दुल्हन ने न सिर्फ शादी से इनकार कर दिया बल्कि घर छोड़कर भी फरार हो गई. जिसके बाद लड़की की मां ने बेटी की गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया है. मामला बांका के रजौन प्रखंड के एक गांव की है. लड़की की मां ने रजौन थाने में अपनी बेटी की गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया है. लड़की की मां ने बताया कि उसकी बेटी की शादी तय हो गई थी. पर लड़की ने लड़के का फोटो देखकर शादी करने से इंकार कर दिया, क्योंकि लड़के का रंग काला था. हमने उसे समझाने का प्रयास किया था, पह वह राजी होने का नाम ही नहीं ले रही थी. बार-बार समझाने पर वह चुप हो गई. इसके बाद 25 नवंबर की रात घर से बाहर निकल कर कहीं चली गई. हमने उसे बहुत खोजा पर कहीं उसका पता नहीं चल सका. जिसके बाद महिला ने रजौन पुलिस से बेटी की बरामदगी की गुहार लगायी है. पुलिस मामला दर्ज कर लड़की की तलाश में जुट गई है.  आपको निचे दी गयी ये खबरें भी बहुत ही पसंद आएँगी। हॉस्टल में रहने वाली लड़कियां करती है ये काम, जिनपर लोग नहीं करते है विश्वास कश्मीर में सरेआम हुए थे बलात्कार, रातों-रात मार दिए गए थे सैकड़ों पंडित यहां महिलाएं मुंह की

रेलवे स्टेशन पर दो नाबालिग किशोरियों के पास मिले 50 लाख रुपये

Image
जबलपुर रेलवे स्टेशन पर चेकिंग के दौरान रविवार रात रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने दो नाबालिग किशोरियों से 50 लाख रुपये बरामद किए हैं। जांच के दौरान एक नाबालिग मौके से फरार हो गई। माना जा रहा है कि यह राशि हवाला की हो सकती है। आरपीएफ ने मामले की जानकारी आयकर विभाग को दी है। पूछताछ में किशोरी कुछ स्पष्ट जानकारी नहीं दे सकीं। हालांकि आरपीएफ ने चेकिंग ब.ढा दी है और हर संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। आरपीएफ स्टेशन पर कर रही थी जांच: जानकारी के अनुसार रात तकरीबन 10.30 बजे रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ जांच कर रही थी। इस दौरान दो किशोरियों को रोका और उनके बैग की जांच की तो उसमें 50 लाख रुपये नकद रखे मिले। आयकर विभाग को दी गई सूचना : आरपीएफ डीएससी अरुण कुमार ने मामले की जांच के लिए आयकर विभाग के अधिकारियों को सूचना दी है। टीम सोमवार को जांच के लिए स्टेशन जाएगी। संदिग्ध चीज होने पर की गर्इ जांच: बताया जा रहा है कि रेलवे स्टेशन पर लगी चेकिंग मशीन में यात्रियों का लगेज चेक किए जा रहे थे। इस दौरान एक नाबालिग लड़की के बैग की जांच की गई तो उसमें कुछ संदिग्ध चीज होने की जानकारी मिली। आर

मंडप में बेहोश हुआ दूल्हा, दुल्हन ने फेरे लेने से किया इनकार

Image
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां पिपराइच के एक गांव में दुल्हन ने उस वक्त शादी से इनकार कर दिया जब दूल्हा मंडप में ही बेहोश हो गया। दुल्हन के इस कदम से दूल्हे व उसके घरवालों का शादी का अरमान चकनाचूर हो गया। मामला पुलिस तक पहुंचा तो पीआरवी पुलिस दूल्हे को थाने लाई। दुल्हन पक्ष के लोगों ने धोखाधड़ी की तहरीर दे दी और रकम व उपहार वापस मांगने लगे। जिसके बाद दोनों पक्षों में शनिवार पूरे दिन सुलह की कोशिशें चलती रही। नतीजा न निकलने पर दोनों पक्ष को रविवार को बुलाया गया था। रविवार को भी थाने पर मामले का कोई हल नहीं निकला। बाद में देर शाम स्थानीय जनप्रतिनिधि के हस्तक्षेप पर दोनों पक्ष में सुलह हो गई। दूल्हे पक्ष ने उपहार वापस कर दिया और शादी आखिरकार नहीं हुई। जानकारी के अनुसार पिपराइच इलाके के हेमछापर गांव में एक गांव से बीते चार दिन पहले बरात आई थी। दूल्हा जैसे ही मंडप में पहुंचा और परछावन जैसे ही शुरू हुआ तभी दूल्हा बेहोश होकर गिर गया। यह देख मंडप में हड़कंप मच गया। जिसके बाद दुल्हन ने शादी करने से इनकार कर दिया। दुल्हन पक्ष के लोग दिए गए उपहा

बिछिया पहनने वाली महिलाएं ना करें यह गलती वरना पति डूब जायेगा कर्ज में

Image
दोस्तों आप सभी जानते है, कि भारतीय परंपरा के अनुसार हर महिला शादी के बाद अपने पैरों में बिछिया पहनती हैं, और सोलह श्रृंगारों में 15वें पायदान पर पैर की अंगुलियों में बिछ‍िया पहने का रिवाज है। सुहागन महिलाओं की मांग में सोने का तथा पैरों में चांदी के आभूषण होने चाहिए। यह आपके मन को बहुत ही शांति प्रदान करते हैं। और आपके पारिवारिक जीवन में खुशियां भी लाते हैं। दोस्तों महिला को अपने पैरो से बिछिया उतार कर दूसरी महिला को कभी नहीं देनी चाहिए। ऐसा करने से आपके परिवार तथा पति के सारे कार्यों में हानि होने लगती है, और उनका पति हमेशा कर्ज में डूबा रहेगा। हमेशा मानसिक तनाव बना रह सकता है। जहां से भी धन की प्राप्ति होती है। वह कार्य भी बंद हो जाते हैं। हमारे वेदों और पुराणों ने सच ही कहा है, कि महिलाओं को ऐसी पायल बिछिया रखनी चाहिए। जिसमें कम आवाज हो ऐसा करने पर आप पति की सभी समस्याओं को टाल सकती हैं।  आपको निचे दी गयी ये खबरें भी बहुत ही पसंद आएँगी। हॉस्टल में रहने वाली लड़कियां करती है ये काम, जिनपर लोग नहीं करते है विश्वास कश्मीर में सरेआम हुए थे बलात्कार, रातों-रात मार दिए गए थे सैकड़

OMG! लॉकडाउन की आशंका, सैकड़ों मजदूर लौटने लगे घर

Image
सर्दी का मौसम शुरू होते ही देशभर में कोरोना संक्रमण बढ़ने लगा है। इस बीच संक्रमण से बचाव को लेकर लिए जा रहे निर्णयों के बीच लॉकडाउन की अफवाह और आशंका से एक बार फिर काम के लिए परदेश गए मजदूरों का बड़ी संख्या में घर के लिए लौटना शुरू हो गया है। हालांकि सरकार का अभी ऐसा कोई आदेश नहीं है जिससे लॉकडाउन लगाने जैसी बात हो। बता दे कि कोरोना की दूसरी लहर ने काम की तलाश में परदेश गए मजदूरों को चिंता में डाल दिया है। एक दिसंबर से लॉकडाउन लगने की अफवाह के डर से मजदूर परिवारों के साथ महाराष्ट्र और गुजरात से बसों में बैठकर लौट रहे हैं। पिछली बार कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 22 मार्च को अचानक सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया था। जो 31 मई तक चला था। इस दौरान मजदूरों को घर लौटने के लिए खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। घर लौटने पर उस समय मजदूरों को स्थानीय स्तर पर पूरे समय काम नहीं मिला। जिसके कारण अनलॉक होते ही काम के लिए फिर से महाराष्ट्र और गुजरात लौट गए थे, लेकिन अब एक बार फिर बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण बढ़ने लगा है। जिसके चलते मजदूर फिर से लॉकडाउन लगने की अफवाह और आशंका के चलते अपने घर लौट रहे है

बिहार में पुश्तैनी जमीन बेचने का अधिकार सिर्फ इन्हें है, पढ़ें कानून क्या कहता है

Image
बिहार में बहुत से लोगों के पास पुश्तैनी जमीन पड़ा है जिसके बारे में अभी हर किसी को सही जानकारी नही है कि आखिर में इसका असली हकदार कौन कौन हो सकता है। आपको बता दें कि कानून के मुताबिक बिहार में चार पीढ़ियों तक प्रॉपर्टी का हस्तांतरण पुश्तैनी अधिकार कहा जाता है। इन पीढ़ियों के सदस्यों को जन्म के साथ ही ऐसी जॉइंट फैमिली प्रॉपर्टी में हिस्सेदारी मिल जाती है। यह पीढ़ी दर पीढ़ी ट्रांसफर होता रहता है। आपको बता दें कि बिहार के कानून के अनुसार बिहार में पुश्तैनी जमीन बेचने का अधिकार सिर्फ उन्ही को होगा जिनमे आपसी सहमति से बराबर बराबर बंटवारा हो चुका होगा। अगर आप चार, दो तीन या कितने भी भाई बहन है। सब साथ रहते हैं। फिर भी पुश्तैनी जमीन बेचने के लिए परिवारिक बंटवारा करना अनिवार्य है। पारिवारिक बंटवारे के बाद से जिसके हिस्से में जितना आएगा वह इंसान उतने हिस्से का मालिक होगा और वह उसे बेच भी सकता है या फिर जो चाहे कर सकता है। आपको निचे दी गयी ये खबरें भी बहुत ही पसंद आएँगी। हॉस्टल में रहने वाली लड़कियां करती है ये काम, जिनपर लोग नहीं करते है विश्वास कश्मीर में सरेआम हुए थे बलात्कार, रातों-रात

बाइक चलाने वालों के लिए मोदी सरकार का फरमान, तुरन्त पढ़ें वरना हो जाएगा नुकसान

Image
आपको बता दें कि बाइक चलाने को लेकर मोदी सरकार ने एक फैसला जारी किया है जिसे अब हर बाइकर्स को ध्यान रखना पड़ेगा। आइये जानते हैं वह कौन सा फैसला है। आपको बता दें कि देश में केवल भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) से प्रामाणित दुपहिया वाहन चालक हेलमेट ही बनाए और बेचे जा सकेंगे। सिर्फ बीआईएस से प्रमाणिक हेलमेट ही मान्य होंगे। इसलिए यदि आप कोई भी लोकल या कम कीमत का हेलमेट खरीद कर बाइक चलाते हैं तो अब आपको जरूर सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि अब ऐसा बिल्कुल भी नही चलने वाला है। आपको बता दें कि सुरक्षा की दृष्टि से अब बाइक बिना हेलमेट के नही चलाया जा सकता है क्योंकि हेलमेट बहुत ही जरूरी है। इसलिए यदि आप हेलमेट खरीदने जाते हैं तो ये जरूर सुनिश्चित कर लें की आप जो हेलमेट खरीद रहे हैं वो भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) से प्रामाणित है या नहीं। आपको निचे दी गयी ये खबरें भी बहुत ही पसंद आएँगी। हॉस्टल में रहने वाली लड़कियां करती है ये काम, जिनपर लोग नहीं करते है विश्वास कश्मीर में सरेआम हुए थे बलात्कार, रातों-रात मार दिए गए थे सैकड़ों पंडित यहां महिलाएं मुंह की बजाय गुप्तांग में दबाती है तंबाकू, वजह जा

पहले मुर्गी आई या अंडा, इस सवाल का पक्का जवाब मिल गया -[.]-

Image
दुनिया के सबसे पुराने और सिर घुमाने वाले सवालों में मुर्गी-अंडे वाला सवाल है. पहले कौन आया - मुर्गी या अंडा? अगर आप कहेंगे कि पहले मुर्गी आई, तो वो मुर्गी किसी अंडे से आई होगी. अगर आप कहेंगे अंडा, तो वो अंडा किसी मुर्गी ने ही तो दिया होगा. इस तरह ये जवाब पुरानी कैसेट की तरह फंस जाता है. और आदमी सिर धुनता रह जाता है. मुर्गी-अंडे वाला ये सवाल यूनानी सभ्यता जितना पुराना है. दार्शनिक ऐरिस्टोटल (अरस्तु) के सामने भी ये सवाल आया था. ऐरिस्टोटल इस नतीजे पर पहुंचे कि ये एक इनफाइनाइट सीक्वेंस है, इसका कोई ट्रू ओरिजिन नहीं है. यानि ये सिलसिला अनंत है, इसका कोई सही मूल नहीं है. लेकिन हम साइंस के ज़रिए इसका जवाब पता करने की कोशिश कर सकते हैं? मुर्गी एक पक्षी की प्रजाति है. ये ज़्यादा लंबा नहीं उड़ पाते, इसलिए इंसानों ने इन्हें दबोच रखा है. आजकल के पालतू मुर्गे एक जंगली पक्षी के वंशज हैं. इस पक्षी का नाम है जंगलफॉल. 2020 में हुई एक स्टडी के मुताबिक आज के मुर्गों का 71-79% DNA रेड जंगलफॉल से मिलता है. करीब 8000 साल पहले इन्हें पाला जाने लगा. और आज की पालतू मुर्गियों की कहानी शुरू हुई. अंडा क्या

घर पर बनाएं मच्छर भगाने वाला लिक्विड, खर्च होंगे सिर्फ 3 रु - >< -

Image
  मच्छरों के कारण सबसे ज्यादा खतरा मलेरिया (Malaria) का होता है। अगर इसका समय पर ट्रीटमेंट नहीं करें तो मलेरिया जानलेवा हो सकता है। मलेरिया से बचाव ही इसका सबसे अच्छा उपचार है। मलेरिया के टीके पर काम चल रहा है। लेकिन इसे आम लोगों तक पहुंचने में काफी साल लग सकते हैं। ऐसे में मच्च्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी और मास्क्यूटो रेपेलेंट ही बेस्ट तरीके हैं। बाज़ार में मिलने वाले रिफिल में क्या होता है : दोस्तों मच्छर भगाने के लिए आप अक्सर घर मे अलग अलग दवाएं इस्तेमाल करते हैं ! कोई तो liquid form मे होती हैं ! और कोई कोई coil के रूप मे और कोई छोटी टिकिया के रूप मे !! और all out ,good night, baygon, hit जैसे अलग-अलग नामो से बिकती है ! इन सबमे जो कैमिकल इस्तेमाल किया जाता है ! वो डी एथलीन है,मेलफो क्वीन है और फोस्टीन है !! ये तीन खतरनाक कैमिकल है ! ये लेख हिमाचली खबर से ये यूरोप मे 56 देशो मे पिछले 20 -20 साल से बैन है ! और हम लोग घर मे छोटे-छोटे बच्चो के ऊपर ये लगाकर छोड़ देते हैं ! 2-3 महीने का बच्चा सो रहा होता है ! और साथ मे ये जहर जल रहा होता है !! TV विज्ञापनो ने आम व्यक्ति का दिमाग

अंडा वेज है या नॉन वेज, वैज्ञानिकों का जवाब सुनकर हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा आपका डाउट |--|

Image
  अंडा वेज है या नॉनवेज इस पर हमेशा से लोग बहस करते आ रहे हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि वैज्ञानिकों के अनुसार अंडा शाकाहार है या मांसाहारी? इस जवाब से आपका भी डाउट हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा। आपको बता दें कि बाजार में जो अंडे मिलते हैं वह सारे ही अनफर्टिलाइज्ड होते हैं। यानि कि इनमें से कभी भी चूजे बाहर नहीं आते हैं। इसका मतलब यह है कि विज्ञान की नजरों में अंडा वेज है। जैसा कि आप जानते हैं कि अंडे में तीन लेयर यानि कि हिस्से होते हैं- पहला छिल्का, दूसरा सफेदी और तीसरा हिस्से को अंडे की जर्दी कहा जाता है। सफेद वाला हिस्सा प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत होता है। इसमें जानवर का कोई भी हिस्सा मौजूद न होने के कारण एग वाइट शाकाहारी होता है। अब बात करते हैं योक यानि कि जर्दी की। इसमें प्रोटीन के साथ-साथ कोलेस्ट्रोल और फैट भी मौजूद होता है। अंडा मांसाहार तब बनता है जब उनमें गैमीट सेल्स होता है और यह तब होता है जब मुर्गी और मुर्गा दोनों एक-दूसरे के संपर्क में आते हैं। आमतौर पर मुर्गी जब 6 महीने की हो जाती है तो वह हर 1 या डेढ़ दिन में अंडे देती है। इन अंडों को ही अनफर्टिलाइज्ड एग क

OMG! मार्केट में तहलका मचा रहा है यह सीसीटीवी कैमरे वाला बल्ब, कीमत है मात्र इतनी _-_

Image
  अगर आप भी कोई सीसीटीवी कैमरे वाला बल्ब लेना चाहते हैं, तो आज हम आपको आपकी बजट के हिसाब से सस्ता और बढिया बल्ब के बारे में बता रहे है आप इस बल्ब को ऑनलाइन भी खरीद सकते है। इसके लिए आपको बाजार जाने की भी जरूरत नही है। यह बल्ब आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। इस बल्ब की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इस बल्ब में कैमरा भी लगा हुआ है यह बल्ब रौशनी देने के साथ-साथ आपकी घर की सुरक्षा भी करता है। मार्केट में इन दिनों यह बल्ब बेहद पसंद किया जा रहा है इस स्मार्ट होम ऑटोमेटेड बल्ब को आप दूर से चालू और बंद कर सकते हैं और मोबाइल कनेक्टिविटी के साथ घर और कार्यालय के लिए बल्ब सीसीटीवी कैमरे से दुनिया में कहीं से भी अपने घर पर नज़र रख सकते हैं यह बल्ब आपके हैंडसेट बाजार में उपलब्ध V380 मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग करके डू-इट-ही-इंस्टॉलेशन के लिए आसान सेटअप सुविधा के साथ बनाया गया है। बस प्लेस्टोर से V380 ऐप डाउनलोड करना’होगा’ है. इस बल्ब में 128 जीबी तक का एसडी कार्ड इस्तेमाल किया जा सकता है अभी तक आपने ऐसा बल्ब नहीं देखा होगा। जिसमें आपको यह सुविधा दी गई है। यह पहला लाइट बल्ब है जिसमें आपको सीसीटीवी

शनिदेव के कहर से मुक्त हुए 4 राशि वाले लोग अब 30 नवम्बर से जिस भी मार्ग पर चलेंगे वह बना देगा अरबपति

Image
नमस्कार दोस्तों, स्वागत है दोस्तों, हम इन राशियों के बारे में बात कर रहे हैं, जहां शनि का जीवन विनाश से मुक्त हो गया है और उनके दोस्तों का अंत हो गया है। दोस्तों, मैं आपकी बहुत मदद कर सकता हूँ, मैं सब कुछ सही-सही नहीं कह सकता, लेकिन कुछ प्रतिशत सही हैं, इसलिए दोस्त बने रहें और हमारे साथ इसी तरह के जानकारीपूर्ण लेख पढ़ना शुरू करें। मिथुन राशि आज सभी अधूरे कार्य पूरे हो सकते हैं। यह दिन कला और सृजन से जुड़े लोगों के लिए शुभ है। विदेश में नौकरी पाने का अवसर। अनुस्मारक से संबंधित कार्यों को आमतौर पर विस्तारित करने की आवश्यकता होती है। क्षेत्र या व्यवसाय में हर जगह पुरानी समस्याओं का समाधान किया जाता है। टिम्बर व्यापारी बिक्री पर ध्यान केंद्रित करते हैं। मकर राशि आज आपको दिमाग को मैदान और दिल पर लगाने की जरूरत है। तनाव से बचें और जल्दबाजी में निर्णय न लें। लाभांश के लिए सीधे कार्यालय में काम करें। इस आधार पर नौकरी की प्राथमिकताएँ निर्धारित करके आप लाभदायक बने रह सकते हैं। व्यवसायी लोग सहकर्मी या कर्मचारी को नीचा दिखाते हैं, बहस करते हैं और व्यर्थ में बातचीत करते हैं, इससे दूसरों को

घर पर बनाएं मच्छर भगाने वाला लिक्विड, खर्च होंगे सिर्फ 3 रु --__--

Image
घर पर बनाएं मच्छर भगाने वाला लिक्विड, खर्च होंगे सिर्फ 3 रु - मच्छरों के कारण सबसे ज्यादा खतरा मलेरिया (Malaria) का होता है। अगर इसका समय पर ट्रीटमेंट नहीं करें तो मलेरिया जानलेवा हो सकता है। मलेरिया से बचाव ही इसका सबसे अच्छा उपचार है। मलेरिया के टीके पर काम चल रहा है। लेकिन इसे आम लोगों तक पहुंचने में काफी साल लग सकते हैं। ऐसे में मच्च्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी और मास्क्यूटो रेपेलेंट ही बेस्ट तरीके हैं। बाज़ार में मिलने वाले रिफिल में क्या होता है : दोस्तों मच्छर भगाने के लिए आप अक्सर घर मे अलग अलग दवाएं इस्तेमाल करते हैं ! कोई तो liquid form मे होती हैं ! और कोई कोई coil के रूप मे और कोई छोटी टिकिया के रूप मे !! और all out ,good night, baygon, hit जैसे अलग-अलग नामो से बिकती है ! इन सबमे जो कैमिकल इस्तेमाल किया जाता है ! वो डी एथलीन है,मेलफो क्वीन है और फोस्टीन है !! ये तीन खतरनाक कैमिकल है ! ये लेख हिमाचली खबर से ये यूरोप मे 56 देशो मे पिछले 20 -20 साल से बैन है ! और हम लोग घर मे छोटे-छोटे बच्चो के ऊपर ये लगाकर छोड़ देते हैं ! 2-3 महीने का बच्चा सो रहा होता है ! और साथ मे

अंडा वेज है या नॉन वेज, वैज्ञानिकों का जवाब सुनकर हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा आपका डाउट ]---[

Image
अंडा वेज है या नॉन वेज, वैज्ञानिकों का जवाब सुनकर हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा आपका डाउट अंडा वेज है या नॉनवेज इस पर हमेशा से लोग बहस करते आ रहे हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि वैज्ञानिकों के अनुसार अंडा शाकाहार है या मांसाहारी? इस जवाब से आपका भी डाउट हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा। आपको बता दें कि बाजार में जो अंडे मिलते हैं वह सारे ही अनफर्टिलाइज्ड होते हैं। यानि कि इनमें से कभी भी चूजे बाहर नहीं आते हैं। इसका मतलब यह है कि विज्ञान की नजरों में अंडा वेज है। जैसा कि आप जानते हैं कि अंडे में तीन लेयर यानि कि हिस्से होते हैं- पहला छिल्का, दूसरा सफेदी और तीसरा हिस्से को अंडे की जर्दी कहा जाता है। सफेद वाला हिस्सा प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत होता है। इसमें जानवर का कोई भी हिस्सा मौजूद न होने के कारण एग वाइट शाकाहारी होता है। अब बात करते हैं योक यानि कि जर्दी की। इसमें प्रोटीन के साथ-साथ कोलेस्ट्रोल और फैट भी मौजूद होता है। अंडा मांसाहार तब बनता है जब उनमें गैमीट सेल्स होता है और यह तब होता है जब मुर्गी और मुर्गा दोनों एक-दूसरे के संपर्क में आते हैं। आमतौर पर मुर्गी जब 6 महीने क

पहले मुर्गी आई या अंडा, इस सवाल का पक्का जवाब मिल गया -][-

Image
पहले मुर्गी आई या अंडा, इस सवाल का पक्का जवाब मिल गया - दुनिया के सबसे पुराने और सिर घुमाने वाले सवालों में मुर्गी-अंडे वाला सवाल है. पहले कौन आया - मुर्गी या अंडा? अगर आप कहेंगे कि पहले मुर्गी आई, तो वो मुर्गी किसी अंडे से आई होगी. अगर आप कहेंगे अंडा, तो वो अंडा किसी मुर्गी ने ही तो दिया होगा. इस तरह ये जवाब पुरानी कैसेट की तरह फंस जाता है. और आदमी सिर धुनता रह जाता है. मुर्गी-अंडे वाला ये सवाल यूनानी सभ्यता जितना पुराना है. दार्शनिक ऐरिस्टोटल (अरस्तु) के सामने भी ये सवाल आया था. ऐरिस्टोटल इस नतीजे पर पहुंचे कि ये एक इनफाइनाइट सीक्वेंस है, इसका कोई ट्रू ओरिजिन नहीं है. यानि ये सिलसिला अनंत है, इसका कोई सही मूल नहीं है. लेकिन हम साइंस के ज़रिए इसका जवाब पता करने की कोशिश कर सकते हैं? मुर्गी एक पक्षी की प्रजाति है. ये ज़्यादा लंबा नहीं उड़ पाते, इसलिए इंसानों ने इन्हें दबोच रखा है. आजकल के पालतू मुर्गे एक जंगली पक्षी के वंशज हैं. इस पक्षी का नाम है जंगलफॉल. 2020 में हुई एक स्टडी के मुताबिक आज के मुर्गों का 71-79% DNA रेड जंगलफॉल से मिलता है. करीब 8000 साल पहले इन्हें पाला जाने लगा

OMG! मार्केट में तहलका मचा रहा है यह सीसीटीवी कैमरे वाला बल्ब, कीमत है मात्र इतनी -_-

Image
OMG! मार्केट में तहलका मचा रहा है यह सीसीटीवी कैमरे वाला बल्ब, कीमत है मात्र इतनी - अगर आप भी कोई सीसीटीवी कैमरे वाला बल्ब लेना चाहते हैं, तो आज हम आपको आपकी बजट के हिसाब से सस्ता और बढिया बल्ब के बारे में बता रहे है आप इस बल्ब को ऑनलाइन भी खरीद सकते है। इसके लिए आपको बाजार जाने की भी जरूरत नही है। यह बल्ब आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। इस बल्ब की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इस बल्ब में कैमरा भी लगा हुआ है यह बल्ब रौशनी देने के साथ-साथ आपकी घर की सुरक्षा भी करता है। मार्केट में इन दिनों यह बल्ब बेहद पसंद किया जा रहा है इस स्मार्ट होम ऑटोमेटेड बल्ब को आप दूर से चालू और बंद कर सकते हैं और मोबाइल कनेक्टिविटी के साथ घर और कार्यालय के लिए बल्ब सीसीटीवी कैमरे से दुनिया में कहीं से भी अपने घर पर नज़र रख सकते हैं यह बल्ब आपके हैंडसेट बाजार में उपलब्ध V380 मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग करके डू-इट-ही-इंस्टॉलेशन के लिए आसान सेटअप सुविधा के साथ बनाया गया है। बस प्लेस्टोर से V380 ऐप डाउनलोड करना’होगा’ है. इस बल्ब में 128 जीबी तक का एसडी कार्ड इस्तेमाल किया जा सकता है अभी तक आपने ऐसा बल्ब नहीं दे

बुराइयों की जड़ मानी जाने वाली शराब को आखिर सेना के जवानो को पिने की छूट क्यों दी जाती है - {--

Image
   शराब को सेहत के लिए नुस्खानदायक माना जाता है लेकिन सेना में जवानो को इसे पिने की छूट दी जाती है। आज हम आपको इसके कारन के बारे में जानकरी देते है दरअसल सेना को बहुत मुश्किल परिस्थितियों में देश की रक्षा का काम करना पड़ता है कई बार उन्हें ऐसे वातावरण में रह कर भी लोगो की रक्षा करनी पड़ती है जहा का तापमान माईनस में होता है ऐसे में शराब को पीकर वो अपने शरीर को गर्म रखते है इसलिए सेना के जवानो के लिए शराब उनकी मूल आवश्यकता में से एक है। जवानो को अपने परिवार से दूर रहना पड़ता है जब वो बीजी रहते है तो समय निकालना आसान होता है लेकिन जब वो खाली बैठे होते है ऐसे में अपने परिवार की याद आना आम बात है कोई भी इतने समय तक अपने परिवार से दूर नहीं रह सकता है भले ही वे कितने भी बहादुर हों ऐसे में शराब उन्हें खाली समय को काटने में भी मदद करती है। हिमाचली खबर जब ब्रिटिश सेना भारत में राज कर रही थी तब उनकी सेना में एक परम्परा थी जिसके तहत हर अधिकारी और सेना का जवान एक निश्चित मात्रा में शराब का सेवन करेगा यह परम्परा भारतीय सेना में भी है। जब सेना में किसी नए जवान की भर्ती होती है तो उसके स्वागत के लिए

OMG! एक छोटे से इंडिकेटर की वजह से बढ़ता है बिजली का बिल, जानिए कैसे कम कर सकते हैं बिल {--

Image
  आज के समय में लोग बिजली के बिल को लेके काफी परेशान रहते हैं, सभी यह सोचते हैं कि बिजली का बिल कैसे कम किया जाए। आज हम आपको बिजली का बिल करने का एक काफी आसान तरीका बताने वाले हैं। दोस्तों आपने देखा होगा कि हमारे घर में स्विच बोर्ड्स होते हैं और उनपर इंडीकेटर्स लगे होते हैं। ये इंडिकेटर हमे लाइट के होने या न होने के बारे में बताते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ये आपके बिल को बढ़ाने का एक कारण हैं। जी हाँ, हम अक्सर इसके बारे में नहीं सोचते और ये इंडिकेटस 24 घंटे चलते रहते हैं जिसके कारण बिजली की खपत होती है। लेकिन आपको बता दें कि आप इन इंडीकेटर्स को बिना हटाए इनका एक हल कर सकते हैं। ये हल करने के बाद ये इंडीकेटर्स भी चलते रहेंगे और आपकी बिजली की खपत भी कम होगी। आपको सिर्फ एक या रुपए का खर्चा करके इस इंडिकेटर को बदल देना है। ऐसे करीब 8 से 10 इंडिकेटर हमारे घर में लगाए गए होते हैं। ये लेख हिमाचली खबर से यानि कि जितने स्विच बोर्ड होंगे उतने ही इंडीकेटर्स होंगे। इस इंडिकेटर को बदलने के लिए सबसे पहले आपको अपने घर की बिजली बंद कर देनी है यानि कि MCB डाउन कर दें। इन्वर्ट वगेरा भी बं

नाभि में शराब डालने के फायदे जान लेंगे तो तुरंत करेंगे ये काम {--

Image
  ये बहुत ही आम धारणा है कि शराब सेहत के लिए हानिकारक होती है। नि:संदेह शराब सेहत के लिए हानिकारक होती है, अगर उसका सही तरह से इस्तेमाल न किया जाए तो। वहीं कई लोगों का तो ये भी कहना है कि शराब पीने से सेहत अच्छी होती है। लेकिन आपको पता है शराब का सही इस्तेमाल आपको कितना फायदा देता है। शराब के सबसे बेहतरीन उपायों के बारे में बताएं तो शराब से ऐंठन और मांसपेशियों के दर्द में इस्तेमाल की जाती है। वहीं पेट के इलाज में भी शराब काफी मददगार साबित होती है। शराब पीने से पेट का दर्द तक सही हो जाता है। अब आपके मन में सवाल उठा होगा कि आखिर शराब से तो पेट खराब होता है लेकिन हम कह रहे हैं कि शराब से पेट का दर्द ठीक होता है।  ये लेख हिमाचली खबर से। एक छोटे से रूई के टुकड़े को शराब में भिगोएं फिर उसे अपनी नाभि पर रखें... आपको पेट दर्द में काफी आराम मिलेगा। ध्यान रहे कि रूई पूरी तरह से भिगी हुई होनी चाहिए। फिर उस रूई को पूरी तरह भिगोकर नाभि और बेली बटन पर रखें। 15-20 मिनट उस रूई को रखें रहने दें। इससे आपको पेट दर्द में काफी राहत मिलेगी। आपको निचे दी गयी ये खबरें भी बहुत ही पसंद आएँगी। ससुर को लग ग

71 साल बाद भोलेनाथ ने सुन ली 5 राशियों की पुकार 30 नवम्बर के बाद अब गरीबी का इनके जीवन से कर देंगे अंत

Image
हैलो मित्रों! दोस्तों, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हम इस चैनल पर दैनिक राशिफल लेख ला रहे हैं, लेकिन अब आप वास्तु और ज्योतिषीय उपाय, कुंडली गलतियों को हर उस मुसीबत से निकलने के लिए पढ़ सकते हैं जो आपके जीवन में बहुत उपयोगी है। और हर समाधान सही और सटीक होता है ताकि लोग शुरुआत करें आपके पास स्वतंत्र निर्णय लेने की क्षमता है। महत्वपूर्ण निर्णय लेते समय आज यह आपकी मदद करेगा। आपका आलस्य आपको दूसरों के साथ संवाद करने से रोकता है। जिन परियोजनाओं के लिए आप जिम्मेदार हैं, उन्हें प्रबंधित करने के लिए आप अपनी बुद्धिमत्ता और सरलता का उपयोग नहीं करते हैं। आज आप अपनी वित्तीय और व्यावसायिक स्थिति में बहुत प्रगति करेंगे। आपको पदोन्नति या अच्छी नौकरी दी जाएगी।  आज आपकी आर्थिक समस्याएं हल हो जाएंगी। पिछले समझौतों के परिणाम उम्मीद से जल्द प्राप्त होंगे। आप अपने दम पर कार्य करना पसंद करते हैं क्योंकि आप बल के खिलाफ हैं। आप उन लोगों को पसंद नहीं करते हैं जो आपको बताते हैं कि क्या करना है और कैसे करना है। आपके पास दूसरों के समर्थन और विश्वास को अर्जित करने की क्षमता है। आपको उन सभी सहायता और संसाधनों

टॉयलेट में अगर दिखने लगें चींटियां, तो इस बड़ी बीमारी की फौरन कराएं जांच -}

Image
  इस बात से तो आप सभी अवगत ही होगें कि कुछ ऐसे लक्षण होते है जिनसे हम लोग अपनी शरीर में होने वाली कमियों के संबंध में पता कर सकते है, और समय रहते उसका ईलाज भी करवा सकते है, पर कभी कभी हम लोगों कुछ ऐसे लक्षण दिखते है उसके बावजूद हम लोग उस पर ध्‍यान नही देते है जो हमारे लिये आगे चलकर काफी घातक सिद्ध हो सकता है। आज हम इसी संबंध में एक खास जानकारी देने वाले है। इस संबंध में शायद ही आप लोग अवगत होगें। अक्‍सर देखा जाता रहा है कि लोगों के पेशाब के साथ चीनी जैसा पदार्थ निकलने लगता है तथा रोगी के खून में शर्करा की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसे में कई बार ऐसा देखा गया है कि पेशाब करने के पश्‍चात ही उस स्‍थान पर भारी संख्‍या में चींटियां दिखने लगती है। अगर ऐसे लक्षण दिखते है तो उसे डायबिटीज रोग हो सकता है। यह मूलत: पैदायशी कारणों से होती है पर अक्सर 35 साल की आयु के पश्‍चात ही लक्षण सामने आते हैं। अन्य अंग जैसे पेंक्रियाज, थायराइड, प्रेगनेन्सी व लिवर आदि की बीमारियों से भी मधुमेह हो सकता है। उस बीमारी में नुक्सानदेह चीजों का सेवन रोका जा सकता है। इसी प्रकार एक बीमारी मधु मेह है। अगर किसी को हो तो आप

गायों के लिए पागल है ये बंदा, गोबर और गौमूत्र का करता नाश्ता, जानिए पूरी दिनचर्या

Image
गाय को हमारे देश में भगवान का दर्जा दिया गया हैं. शास्त्रों में भी घर में गाय पालने को शुभ माना गया हैं. गाय से बनने वाले उत्पाद जैसे दूध, घी सहित उसके मूत्र और गोबर को भी काफी फायदेमंद माना जाता हैं. शायद यही वजह हैं कि गाय को बचाने के लिए गौ रक्षक हमेशा एक्टिव रहते हैं. विजय अपनी गायों को अपनी बेटी की तरह पालते हैं और उस से बहुत अधिक प्रेम भी करते हैं. गौ मूत्र पीने के विषय पर विजय का कहना हैं कि “गौ मूत्र में कई पोषक तत्त्व होते हैं. इसके सेवन से शरीर की सारी अशुद्धियाँ दूर होती हैं. यदि आप रोजाना एक कप गौ मूत्र पिओगे तो आपको कभी कोई बिमारी नहीं होगी और आप हमेशा स्वस्थ रहोगे.” एक ज़माना था जब विजय की पत्नी गीता परसाना और उनके रिश्तेदारों को ये सब पागलपन लगता था. वो विजय के इस पागलपन को लेकर काफी चिन्ति रहते थे. लेकिन वक़्त के साथ साथ उन्हें इसकी आदत पड़ गई और अब वो भी विजय और गाय के प्रेम को भली भांति समझते हैं. ये लेख हिमाचली खबर से. आपको बता दे कि विजय पहले जुए की लत के शिकार थे. लेकिन बाद में गायों से बढ़ते प्रेम के चलते उनकी यह बुरी लत भी छुट गई. विजय अपने परिवार, काम और गौ

पान की दुकान चलाकर पढ़ाया बेटे को और बेटा बना IAS, किया अपने पिता का सपना पूरा

Image
आज हम आपको एक ऐसी खबर बताने वाले हैं, जिसमें किसी के सपने पूरे होने की बात कही गई है। एक पान वाले ने अपने बेटे को आईएएस ऑफिसर बना करके अपनी सफलता की कहानी खुद से लिखी है। लखनऊ के गणेशगंज इलाके के रहने वाले शिव कुमार गुप्ता के बेटे ईश्वर कुमार ने आईएएस ऑफिसर बन करके अपने माता-पिता का नाम रोशन कर दिया है। ईश्वर कुमार के पिता बहुत ही गरीब है, उनका पूरा परिवार लखनऊ में एक छोटी सी घर में रहता है। लेकिन ईश्वर कुमार ने अपने माता पिता के साथ अपने पूरे परिवार और मोहल्ले का नाम रोशन किया है। पिता चलाते हैं पान की दुकान: ईश्वर कुमार के पिता एक छोटी सी पान की दुकान चलाते हैं, जिससे पूरे परिवार का पालन पोषण होता है। इस दुकान की अवस्था भी बिल्कुल जर्जर हो चुकी है। शिव कुमार की दो बेटियां और दो बेटे हैं बड़ा बेटा ईश्वर अब IAS अधिकारी बन चुका है। सिविल सेवा में उसने 187वी रैंक हासिल किया है। जिसके कारण से आसपास और पूरे परिवार के लोगों से बधाई देने का तांता लगा हुआ है। नानी घर में रहकर पढ़ाई की: ईश्वर कुमार के पिता शिव कुमार के मुताबिक उनका बेटा अपने नानी घर में रह करके ही पढ़ाई करता था। शु

मच्छर काटना तो दूर आपके पास भी नहीं आ पाएंगे, इन्हें दूर भगाने में कारगर है ये घरेलू टिप्स! (<>)

Image
बरसात बीतने के बाद भी मच्छरों का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जरा-सी लापरवाही सर्दी के मौसम में भी आपको डेंगू जैसी बीमारियों की चपेट में ला सकती है। आज हम आपको बता रहे है उन घूरेलू नुस्खों के बारे में जो मच्छरों को दूर भगाने में कारगर साबित हो सकते हैं:…. 1. लौंग के तेल की महक से मच्छर भागते हैं। इसलिए नारियल के तेल में लौंग का तेल मिलाकर शरीर पर लगाएं। इससे आपको मच्छर नहीं काटेंगे। तेल का यह मिश्रण ओडोमॉस की तरह काम करता है। 2. गेंदे के फूलों से घर महक उठता है। इसके पौधे अपने घर में लगाएं। गेंदे के फूलों की खुशबू से मच्छरों को भगाने में भी मदद मिलती है। यानी घर आपका घर सुगंध से भरा रहेगा और मच्छर भी नहीं आएंगे। 3. मच्छरों से बचने के लिए कपूर का इस्तेमाल कर सकते हैं। कपूर की एक टिकिया जलाकर कमरे में रखें। इससे निकलने वाली सुगंध से मच्छर भाग जाते हैं। यह नुस्खा सबसे बढ़िया और आसान है। 4. घरों में मच्छर को भगाने के लिए प्रयोग होने वाले लिक्विड के रिफिल में नींबू का रस डालकर यूज कर सकते हैं। इससे सभी मच्छर मर जाते हैं। यह प्रयोग सप्ताह में दो बार कर सकते हैं। आप चाहें त

घंटी और दर्पण के हैं गजब के फायदे, घर की इन जगहों पर लगाने से आती है बरकत…

Image
हमारे जीवन में कुछ चीजों का प्रयोग हम प्रतिदिन करते हैं लेकिन इसके बावजूद हम उनके उपायों के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं. चलिए आज हम आपको बताते हैं दर्पण और घोड़े की नाल का महत्व. दर्पण: वास्तु शास्त्र में दर्पण बहुत उपयोगी माना जाता हगै. दिशाओं को बढ़ाने का भ्रम करने वाला ये दर्पण कई बार चौंकाने वाला प्रभाव दिखाता है. यदि घर के उत्तर पूर्व हिस्से का कोना कटा हुआ हो तो उस दिशा में एक बड़ा सा दर्पण लगाने से दिशा भ्रम हो जाता है. क्योंकि वह दिशा बढ़ती हुई प्रतीत होती है. जिससे की उसका वास्तु दोष खत्म हो जाता है. इसके अलावा यदि घर के सामने कोई खंबा, पेड़, किसी मकान का कोना, कूड़, खंडहर हो तो घर के मुख्य द्वार की चौखट के ऊपर एक गोल शीशा लगा देने से घर में आने वाली निगेटिव एनर्जी दर्पण से टकराकर बाहर चली जाती है. ये लेख हिमाचली खबर से। इसके अलावा डाइनिंग रूम में उत्तर-पूरब की दीवार पर ओवल शेप का एक बड़ा शीशा लगा देना चाहिए, इससे वहां पर खाना खाने वाले लोगों को खाने प्रतिबिंब उसमें दिखाई देगा जिससे की घर में समृद्धि आती है. घंटी: घंटी का अधिकांश इस्तेमाल लोग मंदिरों और अपने घरों

मां-बाप को लगा मोटापे से निकल रही है इकलौते बेटे की तोंद, जांच में निकला 4 महीने का प्रेग्नेंट

Image
खबर की हैडिंग आपको भी शॉकिंग लग रही होगी। आखिर एक मर्द प्रेग्नेंट कैसे हो सकता है? लेकिन ऐसा सच में हुआ। मामला यूके के मैसाच्युसेट्स से सामने आया। बोस्टन में रहने वाले 18 साल के मिकी चॅनेल का जन्म लड़कों के बॉडी पार्ट्स के साथ हुआ था। जब वो मां के गर्भ में था, तब डॉक्टर्स ने बताया था कि बेटी होने वाली है। लेकिन मिकी का जन्म मेल रिप्रोडक्टिव पार्ट्स के साथ हुआ। इसके बाद उसके पेरेंट्स ने उसे लड़कों की तरह ही पाला-पोसा। लेकिन मिकी की बॉडी के अंदर बच्चेदानी थी। यानी वो किसी महिला की तरह प्रेग्नेंट हो सकता था। अब 18 साल की उम्र में वो मां बनने वाला है। ये अजीबोगरीब घटना वायरल हो रही है। लोग एक लड़के के शरीर में पैदा हुए शख्स को प्रेग्नेंट देख हैरान हैं। बोस्टन में रहने वाला 18 साल का ट्रांसजेंडर टीनएजर मिकी चैनेल वर्तमान में चार महीने का प्रेग्नेंट है। ये चमत्कार नहीं है। दरअसल, मिकी का जन्म मेल बॉडी ऑर्गन्स के साथ जरूर हुआ था लेकिन उसकी बॉडी में फीमेल रिप्रोडक्टिव सिस्टम मौजूद था। बचपन में उसके माता-पिता ने उसे लड़कों की तरह पाल-पास कर बड़ा किया था। वो लड़कों की तरह कपडे पहनता था। लेक

भूखी बच्ची मां-बाप का सिरदर्द, चिप्स तलने गई और करवा दिया करोड़ों का नुकसान

Image
लॉकडाउन के कारण बच्चों की रूटीन ही बिगड़ गया है। वो दिनभर सोते हैं तो रातभर जागते हैं। इसके कारण उन्हें आधी रात को भी भूख लगने लगती है लेकिन अपने बेटी की इस आदत के कारण एक परिवार को करोड़ों का खामियाजा भुगतना पड़ा। सिडनी में रहने वाले एक परिवार को अपना घर छोड़ना पड़ा क्योंकि उनकी 15 साल की बच्ची रात में भूख के चलते किचन में चिप्स चलने गई। मगर, चिप्स तलने के चक्कर में बच्ची ने पूरे घर में आग लगा दी, जिसके कारण परिवार को कोरोड़ों का नुकसान हुआ। दरअसल, एक लड़की को आधी रात भूख लगी तो उसने किसी को उठाने की बजाए खुद की चिप्स तलने लगी। मगर, तेल ज्यादा गर्म होने के कारण उसमें आग लग गई, जो धीरे-धीरे किचन से डाइनिंग रूम, लॉउन्ज और सीढ़ियों तक फैल गई। घर के सभी हिस्से धुंए और कालिख से भर गए थे तो परिवार की आंख खुली। बाहर का नजारा देख 55 साल की लिंडा बर्रेट (बच्ची की मां) हैरान हो गई और सभी को घर से बाहर निकाला। इसके बाद लिंडा को अपनी 3 बेटियों और कुत्तों के साथ घर छोड़ना पड़ा। हालांकि राहत की बात यह है कि किसी की जान को कोई नुकसान नहीं हुआ। आग इतनी भयानक थी कि उसे बुझाने के लिए 5 दमकलकर्

कही आपके शरीर में भी तो नहीं हैं इस अंग पर बाल तो जरुर पढ़े ये खबर…

Image
हमारे ज्योतिष शास्त्रों में कुछ ऐसी बातें बताई गयी है जिंनसे हम भविष्य में होने वाली घटनाओं से अवगत रहते है। ऐसे ही स्त्रियों की बात करें तो लंबे घने बालों वाली स्त्री सौभाग्यशाली होती है। वहीं छोटे-छोटे और काले बालों वाली पलकें जिन स्त्रियों की होती है वह भी सौभाग्यशाली मानी जाती है। इसी के साथ शरीर के कुछ अंग और भी हैं जहां बालों का होना शुभ नहीं माना जाता है। इन अंगों पर नहीं होने चाहिए बाल: पुरुषों के हाथों पर अधिक बाल हों तो यह शुभ होता है और इस तरह के हाथों वाले व्यक्ति बुद्धिमानी और ज्ञानी होते हैं। इसी के साथ जिन पुरूषों के हाथों में कम बाल होते हैं वह दूरदर्शी लेकिन मतलबी होते है। जिन स्त्रियों के हाथों पर बाल होते हैं वह स्त्री उग्र होती है और यह छोटी-छोटी बातों पर दूसरों से उलझ पड़ती है। ये लेख हिमाचली खबर से। इसी के साथ ऐसी स्त्री दूसरों का अहित कर सकती है। महिला हो या फिर पुरूष दोनों की छाती पर बाल जरूर होते हैं लेकिन महिला के मुताबिक पुरूषों की छाती पर अधिक बाल पाए जाते हैं। जिन लोगों की छाती पर अधिक बाल होते है वे काफी संतोषी प्रवृति वाले होते है। आपको निचे दी

3 दिन में पहलवान बनाते हैं इस पेड़ के पत्ते, बूढ़ों में लौटाते जवानी #Health Tips

Image
बरगद का पेड़ पुरुषों की मर्दाना कमजोरी को दूर करने के साथ-साथ सर्दी, जुकाम, बुखार और डायबिटीज को भी खत्म करता है। यह पेड़ दिखने में विशाल होने के साथ-साथ शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। और इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। आइए बरगद के पेड़ के तमाम फायदे जानते हैं- दांतो की बीमारियां : बरगद के पेड़ का दूध रुई की सहायता से दातों पर लगाने से दातों का कीड़ा तुरंत मर जाएगा। इसके अलावा 10 ग्राम बरगद की छाल, कत्था और 2 ग्राम काली मिर्च को बारीक पीसकर दातों पर मंजन की तरह इस्तेमाल करने से दांतों की सभी प्रकार की बीमारियां जैसे दांत दर्द, दांत में कीड़ा लगना, सड़न और पायरिया खत्म हो जाएंगे। पायल्स से छुटकारा : बरगद के दूध में शक्कर मिलाकर पीने से पाइल्स की बीमारी जड़ से खत्म होती है। इसके अलावा शरीर के किसी अंग पर लगी चोट से आने वाली सूजन से भी छुटकारा मिलता है।  स्पर्म काउंट बढ़ाएं : ये लेख हिमाचली खबर से। बरगद के दूध का पुरुष अगर सुबह खाली पेट सेवन करेंगे तो शारीरिक और मर्दाना कमजोरी जड़ से खत्म होगी। और पुरुषों में स्पर्म काउंट की संख्या बढ़ेगी। कमर दर्द से छुटकारा : बरगद के

11 तरीके से बजाए जाते हैं ट्रेनों के हॉर्न, हर हॉर्न का होता है अलग मतलब। आप भी समझ लीजिए

Image
फिल्म ‘दोस्त’ में किशोर कुमार का गाया हुआ गाना ‘गाड़ी बुला रही है, सीटी बजा रही है’ तो आपको याद ही होगा। जी हां आपने रेलगाड़ी में सफर तो जरुर किया ही होगा, तो आपने ट्रेन के सीटियों की आवाज भी जरुर सुनी होगी, लेकिन क्या कभी आपने ट्रेनों के इस सीटियों पर गौर किया है। नहीं ना, तो चलिए हम आपको बताते हैं रेल गाड़ियों के हॉर्न का मतलब। जिस तरह ट्रेनों के रंगों का मतलब होता है। ट्रेनों पर लिखे नंबर या चिन्हों का मतलब होता है, ठीक वैसे ही ट्रेनों के हॉर्न का भी मतलब होता है। ट्रेन के हॉर्न 11 तरीेके के होते हैं। आइए समझते हैं क्या है उनका मतलब और कब बजाए जाते हैं ये हॉर्न 1. एक शॉर्ट हॉर्न एक शॉर्ट हॉर्न कुछ सेकेंड के लिए ही होता है। इसका मतलब होता है कि गाड़ी यार्ड में जा रही है। वहां अगले सफर के लिए इसकी साफ- सफाई होगी। 2. दो शॉर्ट हॉर्न रेलवे में दो शॉर्ट हॉर्न तो आपने जरुर ही सुना होगा। दो शॉर्ट हटर्न का मतलब होता है कि ट्रेन चलने के लिए पूरी तरह से तैयार है। यह हॉर्न यात्रियों के लिए वार्निंग भी होती है। क्योंकि अगर कोई शख्स ट्रेन के बाहर या इधर-उधर है, तो इस हॉर्न से उसे ट्रेन

इंसान को भूलकर भी इन जगहों पर नहीं ले जाने चाहिए जूते

Image
हमारे धार्मिक ग्रंथों और वास्तु शास्त्रों में बहुत सी ऐसी बातें बताई गयी है जो हमारे जीवन में कल्याणकारी है और सुखमय बना सकती है। कुछ काम हमें ना करने की भी सलाह दी जाती है जो हमारे हित में नहीं है। इसलिए ऐसा कोई काम नहीं करना चाहिए जो आपकी किस्मत को खराब कर दे या फिर जिंदगी को बर्बाद कर दे। इन जगहों पर नहीं ले जाने चाहिए जूते रसोई में देवताओ का वास रहता हैं इसलिए रसोई में चप्पल पहनकर ना जाये वरना आपकी किस्मत खराब हो जाएगी क्योकि इससे अनाज देवता और अग्नि देवता नाराज हो जायेंगे। घर की तिजोरी जिसमे आप पैसे रखते हैं वह लक्ष्मी का वास माना गया इसलिए कभी भी पैसे निकालते समय चप्पल जूते उतारे। कही पर भी मंदिर के बाहर ही जूते चप्पल खोल देवे वर्ना आपकी जिंदगी में मुसीबतो का पहाड़ टूट जायेगा और आपके तंगी के दिन चालू हो जायेंगे। नदी में नहाते समय चप्पल पहनकर न जाए वरना जल देवता आपसे नाराज हो जायेगा उसके बाद आपको बहुत सी समस्याओ का सामना करना पड़ेगा।

करें ये छोटे उपाय, होंगे बड़े फायदे

Image
"वास्तु शास्त्र द्वारा घर में कुछ मामूली बदलाव कर आप घर एवं बाहर शांति का अनुभव कर सकते हैं। कुछ ऐसे ही उपाय आपके लिए नीचे प्रस्तुत हैं, इन्हें अवश्य अपनाएं.. जो बच्चे पढ़ने में कमजोर हैं, उन्हें पूर्व की ओर मुख करके अध्ययन करना चाहिए। इससे उन्हें लाभ होगा। घर में कभी-कभी नमक के पानी से पोंछा लगाना चाहिए। इससे नकारात्मक ऊर्जा नष्ट होती है। घर से निकलते समय माता-पिता को विधिवत (झुक कर) प्रणाम करना चाहिए। इससे बृहस्पति और बुध ठीक होते हैं। इससे व्यक्ति के जटिल से जटिल काम बन जाते हैं। प्रवेश द्वार के आगे स्वस्तिक, ॐ, शुभ-लाभ जैसे मांगलिक चिह्नों को उपयोग अवश्य करें। प्रवेश द्वार पर कभी ‍भी बिना सोचे-समझे गणेश जी न लगाएं। दक्षिण या उत्तरमुखी घर के द्वार पर ही गणेशजी लगाएं। घर में देवी-देवताओं की ज्यादा तस्वीरें न रखें और शयन कक्ष में तो बिलकुल भी नहीं। दफ्तर में काम करते समय उत्तर-पूर्व की ओर मुख करके बैठें तो शुभ रहेगा, जबकि बॉस (कार्यालय प्रमुख) का केबिन नैऋत्य कोण में होना चाहिए।

क्या आप जानते है मकान की नींव में सर्प और कलश रखने के पीछे का राज़

Image
मकान का निर्माण करते वक्त हम कई ऐसे कार्यों को बहुत प्राथमिकता देते है जिनसे हमारे घर की हर तरह से रक्षा की जा सकें। साथ ही घर में सुख-शांति बनी रहे। मान्यताओं के अनुसार माना जाता है कि जमीन के नीचे पाताल लोक है और इसके स्वामी शेषनाग है। पौराणिक ग्रंथों में शेषनाग के फण पर संपूर्ण पृथ्वी टिकी होने का उल्लेख मिलता है। # नींव पूजन का पूरा कर्मकांड इस मनोवैज्ञानिक विश्वास पर आधारित है कि जैसे शेषनाग अपने फण पर पूरी पृथ्वी को धारण किए हुए हैं, ठीक उसी तरह मेरे इस घर की नींव भी प्रतिष्ठित किए हुए चांदी के नाग के फण पर पूरी मजबूती के साथ स्थापित रहे। शेषनाग क्षीरसागर में रहते हैं। # इसलिए पूजन के कलश में दूध, दही, घी डालकर मंत्रों से आह्वान पर शेषनाग को बुलाया जाता है, ताकि वे घर की रक्षा करें। विष्णुरूपी कलश में लक्ष्मी स्वरूप सिक्का डालकर फूल और दूध पूजा में चढ़ाया जाता है, जो नागों को सबसे ज्यादा प्रिय है। भगवान शिवजी के आभूषण तो नाग हैं ही। लक्ष्मण और बलराम भी शेषावतार माने जाते हैं। इसी विश्वास से यह प्रथा जारी है।